केन्द्र ने लिट्टे पर लगे प्रतिबंध को अगले पांच साल के लिए बढ़ाया

0
3
नई दिल्ली, 14 मई (उदयपुर किरण). केन्द्र सरकार ने लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम(लिट्टे) पर लगाए गए प्रतिबंध को अगले पांच साल तक बढ़ा दिया गया है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस बाबत अधिसूचना जारी कर प्रतिबंध को तत्काल प्रभाव से लागू करने का आदेश दिया है.
केन्द्र सरकार ने मंगलवार को गैर-कानूनी गतिविधियां(रोकथाम) अधिनियम,1967 के तहत लिट्टे पर लगे प्रतिबंध को तुरंत प्रभाव से अगले पांच साल के लिए और बढ़ा दिया है. सरकार द्वारा जारी अधिसूचना में कहा गया है कि लिट्टे की लगातार हिंसक और विघटनकारी गतिविधियां भारत की अखंडता और संप्रभुता के लिए नुकसानदेह हैं. इसका भारत के विरुद्ध लगातार कठोर रुख जारी है और इससे भारतीय नागरिकों की सुरक्षा को खतरा उत्पन्न हो सकता है.
उल्लेखनीय है कि लिट्टे का गठन 1976 में वेलापुल्लई प्रभाकरण ने किया था. लिट्टे उत्तरी श्रीलंका में स्थित संगठन है, जिसका मकसद पूर्वी श्रीलंका में स्वतंत्र तमिल राज्य की स्थापना था. इस संगठन को भारत, ब्रिटेन, अमेरिका एवं यूरोपीय संघ जैसे विभिन्न देशों में आतंकवादी संगठनों की सूची में शामिल किया गया है.
श्रीलंका की सेना ने वर्ष 2009 में लिट्टे संगठन को हरा दिया था. प्रभाकरण ने लिट्टे को मामूली हथियारों के 50 से कम लोगों के समूह से 10 हजार लोगों के प्रशिक्षित संगठन में तब्दील कर दिया था, जो एक देश की सेना से टक्कर ले सकता था. श्रीलंका में लंबे समय तक चले गृहयुद्ध के लिए इसी संगठन को जिम्मेदार माना जाता है.

https://udaipurkiran.in/hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here