खेवड़ा में सर्विस स्टेशन पर शराब कारोबारी की 32 से ज्यादा गोली मारकर हत्या

0
2

कुख्यात राजू बसौदी व अक्षय पलड़ा समेत आठ पर केस दर्ज, शराब का कारोबार बना कारण, पुलिस विभिन्न पहलुओं पर कर रही है जांच

सोनीपत, 14 मार्च (उदयपुर किरण). सोनीपत का गांव खेवड़ा इसमें बना सर्विस स्टेशन गुरुवार को गोलियों की आवाज से दहल गया. गाड़ी वाशिंग कराने गए एक शराब कारोबारी पर दिन दहाड़े तीन बाइक पर आए सवार छह हमलावरों ने 40 से ज्यादा गोलियां चलाई. शराब कारोबारी को लगभग 32 गोलियां लगी और जिस कारण उसकी मौत हुई. यह वारदात शराब कारोबार को लेकर हुए झगड़े के कारण हुई है. पुलिस ने झज्जर में पोस्टेड हेड कांस्टेबल एवं शराब कारोबारी के मौसरे भाई, कुख्यात राजू बसौदी व अक्षय पलड़ा समेत आठ पर केस दर्ज किया गया है.

गांव खेवड़ा निवासी नरेंद्र (32) गुरुवार सुबह अपने भाई संजय के साथ सफारी गाड़ी लेकर के अड्डे पर स्थित दादा सर्विस स्टेशन पर गया था. नरेंद्र अपनी गाड़ी की धुलाई कराने लगा. उसी वक्त तीन बाइक पर सवार छह हमलावरों ने वहां गोलियां बरसानी शुरु कर दी. इस हमले में गोली मारने के बाद नरेंद्र भागकर सर्विस स्टेशन के कमरे में घुस गए. लेकिन हमलावरों ने अंदर जाकर उसे गोलियों से उसको छलनी कर दिया. हमलावर इसके बाद भाग गए. नरेंद्र का भाई संजय ने उसे सिविल अस्पताल सोनीपत में पहुंचाया. जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिवार के सदसयों को सौंप दिया. पुलिस ने संजय के बयान पर उसके मौसेरे भाई व झज्जर पुलिस में हेड कांस्टेबल गांव खेवड़ा निवासी सूरज, कुख्यात राजू बसौदी, अक्षय पलड़ा व पांच अन्य पर हत्या का केस दर्ज कर लिया है.

चिकित्सकों के द्वारा किए गए पोस्टमार्टम रिपोर्ट में नरेंद्र के शरीर पर 50 घाव मिले हैं. साथ ही एक्सरे में उसके शरीर के अंदर 22 गोली मिली है. जिसमें से 15 गोलियों को ही निकाल पाए. चिकित्सकों के अनुसार नरेंद्र को लगभग 32 गोली लगी है. अन्य गोली लगकर शरीर के आर-पार हो गई. पोस्टमार्टम टीम ने बताया कि उनके सामने यह उनके सामने ऐसा पहला मामला आया है जिसमें एक व्यक्ति को इतनी गोली मारकर हत्या की गई हो.

शुरुआती पुलिस जांच में बता चला है कि लगभग एक साल पहले नरेंद्र ने बसौदी व गढ़ मिरकपुर में शराब के ठेके लिए थे. जिसे लेकर राजू बसौदी ने उसे धमकी दी थी. नरेंद्र ने उसके बाद भी वहां शराब के ठेके खोले थे. इसी को लेकर उनमें आपसी रंजिश बढती गई. आरोप यह है कि राजू बसौदी व अक्षय पलड़ा के कहने पर नरेंद्र के मौसरे भाई सूरज ने पांच अन्य युवकों के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया है. डीएसपी हरेंद्र सिंह ने बताया कि गांव खेवड़ा में शराब का कारोबार करने वाले युवक की गोलियां मारकर हत्या की गई है. उसके भाई के बयान पर तीन नामजद समेत अन्य के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. मामले कीे जांच की जा रही है.

http://udaipurkiran.in/hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here