तीन बच्चों के बाप व विधुर चचेरे भाई से शादी कराने लाया मंदि, युवती ने किया इंकार 

पुलिस व महिला कोषांग की मदद से मिला यौन शोषण की शिकार दिव्यांग युवती को न्याय


बिहटा,14 मार्च (उदयपुर किरण). बिहटा पुलिस और महिला कोषांग के प्रयास से यौन शोषण की शिकार बनी एक दिव्यांग युवती को गुरुवार को न्याय मिला.शादी का झांसा देकर एक युवक ने यौन शोषण के बाद शादी से इंकार कर दिया था और वह अपने बदले अपने विधुर चचेरे भाई की शादी कराने के लिये बाबा बिहटेश्वर नाथ मंदिर आया था. गुरुवार को मंदिर में शादी करने आयी पीड़ित दिव्यांग युवती ने युवक के चचेरे विधुर भाई से शादी करने से इंकार कर हंगामा शुरू कर दिया था.इस घटना की सूचना स्थानीय लोगों ने बिहटा पुलिस को दी थी.

सूचना के बाद पुलिस दोनों को परिजनों के साथ थाना ले आयी और महिला कोषांग को इस मामले की कॉउंसलिंग की जिमेवारी सौंपी.इस संबंध में महिला कोषांग बिहटा की प्रभारी शिल्पी कुमारी ने बताया कि पीड़ित दिव्यांग युवती और युवक बालिग हैं. युवती दोनों पैर से दिव्यांग है.युवती का यौन शोषण करने वाला युवक जिस चचेरे भाई से युवती की शादी कराना चाहता था वह विधुर और तीन बच्चे का बाप है. युवती की मां सीता देवी ने बताया कि युवक के फुफेरे भाई से वह बेटी के लिये कोई लड़का देखने को बोली थी. एक माह पूर्व इस युवक को लेकर लड़की दिखाने के लिये मेरे घर लेकर आया था.उस रात वह युवक मेरे घर रुक गया था.इस संबंध में पीड़ित युवती ने बिहटा थाना में उक्त युवक के खिलाफ लिखित शिकायत देते हुये बताया कि जिस दिन वह युवक मुझे देखने आया था,उस दिन रात में रुक गया था.रात में उसने शादी करने की बात कर मेरे साथ शारीरिक संबंध बना लिया.

इसके बाद से वह शादी करने से इंकार कर रहा है.महिला कोषांग प्रभारी ने बताया कि राजीपुर रानीतालाब निवासी स्वर्गीय भुनेश्वर राम की पत्नी व युवती की मां सीता देवी व जक्कनपुर,पटना निवासी स्वर्गीय बजरंगी राम के पुत्र व युवक के चचेरे भाई मनोज कुमार के समक्ष दोनों में शादी की सहमति बनी है.दोनों से लिखित लेकर कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के बाद शादी के लिये भेज दिया गया है.दिव्यांग युवती राजीपुर,रनिया तालाब के स्वर्गीय भुनेश्वर राम की पुत्री रिंकू कुमारी तथा युवक जक्कनपुर,पटना निवासी उमेश प्रसाद का पुत्र मुकुल कुमार है.दोनों को शादी करने के बाद मंदिर द्वारा जारी रसीद व फोटो थाने में जमा करने का निर्देश दिया गया है.

http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *