नहर से मिला किसान का शव, चार दिन से रहे थे खोज

0
4

इस्माईलाबाद, 11 जून, (उदयपुर किरण). सैनी माजरा गांव के संदिग्ध परिस्थितियों में लापता किसान का चौथे दिन मंगलवार को शव नरवाना ब्रांच नहर से मिला. पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया. मृतक का गमगीन माहौल में गांव में अंतिम संस्कार किया गया.

सैनी माजरा के किसान हरदेव सिंह का शव ज्योतिसर के पास मिला. उसके कपड़े चार दिन पहले जनसुई हेड के पास नहर किनारे मिले थे. जहां से कपड़े मिले शव वहां से पंद्रह किलोमीटर दूर मिला. पुलिस और परिजनों की तत्परता के चलते शव को बरामद किया जा सका है. पुलिस जांच में सामने आया है कि हरदेव सिंह चार दिन पहले सवेरे के समय करीब पांच बजे नहर में डूबा था. इसके बाद से उसका कोई अता पता नहीं चल रहा था. वह कुछ रोज से जमीन ठेके पर लेने की बात परिवार के बीच कर रहा था. यह भी जांच की जा रही है कि वह संतुलन बिगडऩे से गिरा या अन्य कारण रहे. किसान का शव मिलने के बाद अब पुलिस जांच को आगे बढ़ाने जा रही है.

जांच अधिकारी एएसआई नरेंद्र शर्मा ने बताया कि गोताखोरों को तीस किलोमीटर के एरिया में खोजबीन में लगाया गया था. इसके साथ ही परिजन भी लगातार सहयोग कर रहे थे. खासकर रात के समय अधिक चौकसी बरती जा रही थी. किसान का शव घर पहुंचते ही परिजनों में चीत्कार मच गया. चार दिन से परिवार बेतहाशा गर्मी में नहर के पानी में नजरें गढ़ाए था. परिवार के मन में तरह तरह के ख्याल आ रहे थे. हरदेव सिंह घर कुछ देर में आने की बात कहकर गया था. इसके बाद आज चार दिन बाद शव के रूप में वापिस लौटा. किसान हरदेव ङ्क्षसह मिलनसार व मेहनती प्रवृत्ति का था. थाना प्रभारी बलदेव सिंह का कहना है कि अब मामले की एक एक कड़ी खोली जाएगी. उनका कहना है कि इस मामले में पीडि़त परिवार को हर प्रकार की मदद दी जाएगी. जिला प्रशासन भी किसान के लापता होने से उसी रोज से बार बार रिपोर्ट ले रहा था.

Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News Today

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here