फर्जी प्रमाणपत्रों पर नौकरी करने वाला शिक्षक गिरफ्तार

0
3

देहरादून, 17 मई (उदयपुर किरण). फर्जी प्रमाणपत्रों के सहारे नौकरी करने के मामले में फरार चल रहा फर्जी शिक्षक पुलिस के हत्थे चढ़ गया. पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर शुक्रवार को न्यायालय के सामने पेश किया, जहां उसे न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा दिया गया.

पुलिस के अधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि बेसिक शिक्षा विभाग उत्तराखंड में कार्यरत फर्जी शिक्षकों एवं अन्य समस्त शिक्षकों के प्रमाण पत्रों की जांच अपराध अनुसंधान विभाग खंड देहरादून के विशेष अन्वेषण दल(एसआईटी) द्वारा की गई थी. एसआईटी टीम ने जांच में राजकीय उच्चतर प्राथमिक विद्यालय (रा.उ.प्रा.वि.) सुनार गांव खंड डोईवाला देहरादून में नियुक्त सहायक अध्यापक पुरुषोत्तम यादव के हाईस्कूल के अंकपत्र व प्रमाण पत्र फर्जी थे. इसके लिए एसआईटी ने आवश्यक कार्रवाई के लिए रिपोर्ट शिक्षा विभाग को भेजी. शिक्षा विभाग ने एसआईटी जांच के आधार पर पुरुषोत्तम यादव सेवा समाप्ति कर थाना डोईवाला पर एफआईआर दिया. पुरुषोत्तम यादव के विरुद्ध 15 अक्टूबर,2018 को विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था. मामला दर्ज होने बाद से ही पुरुषोत्तम यादव गिरफ्तारी से बचने के लिए फरार चल रहा था.

पुलिस को मुखबीर तंत्रों के माध्यम से पता चला कि अभियुक्त चांदपुर बिजनौर के आसपास का रहने वाला है. गुरुवार को पुलिस को सूचना मिली की पुरुषोत्तम यादव घर पर आया है. इस पर उसके निवास स्थान ग्राम रामपुर, जिला बिजनौर, उत्तर प्रदेश पर दबिश देकर गिरफ्तार किया. शुक्रवार को न्यायालय के समक्ष पेश कर न्यायिक अभिरक्षा में जिला कारागार देहरादून भेजा दिया.

https://udaipurkiran.in/hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here