लोक कलाकार तीजन बाई को पद्म विभूषण, अभिनेता मोहन लाल और वैज्ञानिक नम्बी नारायण पद्म भूषण से सम्मानित

नई दिल्ली, 25 जनवरी (उदयपुर किरण). केंद्र सरकार ने शुक्रवार को देश के प्रतिष्ठित नागरिक सम्मान पद्म पुरस्कारों की घोषणा की है. छत्तीसगढ़ की प्रसिद्ध पंडवानी गायिका तीजन बाई को पद्म विभूषण के लिए चुना गया है. तीजन बाई को साल 1988 में पद्म और 2003 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था. इसके अलावा इस्माइल उमर गुलेह, अनिलकुमार मणिभाई नाइक और बलवंत मोरेश्वर पुरंदरे को भी पद्म विभूषण दिया जाएगा.

इस बार चार लोगों पद्म विभूषण, 14 को पद्म भूषण और 94 लोगों को पद्म से सम्मानित किया जाएगा. इस सूची में 11 नाम विदेशी और विदेश में रहने वाले भारतीयों के हैं. तीन को यह पुरस्कार मरणोपरांत दिया जाएगा. इसमें 21 महिलायें और एक ट्रांसजेंडर शामिल है. देश के दूसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म विभूषण के लिए इस बार छत्तीसगढ़ की तीजन बाई (कला-वोकल्स-लोक), सार्वजनिक मामलों के लिए इस्माइल उमर गुलेह (विदेशी) (जिबूती), व्यापार और उद्योग-बुनियादी ढांचा क्षेत्र में योगदान के लिए अनिलकुमार मणिभाई नाइक (महाराष्ट्र) और कला-अभिनय-थियेटर से बलवंत मोरेश्वर पुरंदरे (महाराष्ट्र) को चयनित किया गया है.

देश के तीसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म भूषण के लिए एमडीएच के संस्थापक महाशय धर्म पाल गुलाटी (दिल्ली), सरस्वती नदी खोज अभियान से जुड़े हरियाणा के सामाजिक कार्यकर्ता दर्शन लाल जैन, 15वीं लोकसभा के उपाध्यक्ष एवं राजनेता करिया मुंडा (झारखंड), मलयालम फिल्मों के अभिनेता मोहनलाल विश्वनाथन नायर, हाल ही में सुर्खियों में आए इसरो के वैज्ञानिक एस नांबी नारायण, वरिष्ठ पत्रकार कुलदीप नैयर (मरणोपरांत), पर्वतारोही बछेंद्री पाल, बिहार से भाजपा नेता हुकुमदेव नारायण यादव, भूषण- व्यापार और उद्योग-प्रौद्योगिकी के लिए जॉन चैम्बर्स (अमेरिका), सुखदेव सिंह ढींढसा (पंजाब), प्रवीण गोरधन (दक्षिण अफ्रीका), मेडिसिन-अफोर्डेबल हेल्थकेयर क्षेत्र से जुड़े अशोक लक्ष्मणराव कुकड़े (महाराष्ट्र), कला-संगीत-सितार में बुधादित्य मुखर्जी (पश्चिम बंगाल), सिविल सेवा से जुड़े वी के शुंगलू (दिल्ली) को चुना गया है.

पद्मश्री पाने वाले में फिल्म अभिनेता मनोज बाजपेयी, फुटबॉल खिलाड़ी सुनील छेत्री, फिल्म निर्माता एवं अभिनेता प्रभु देवा, क्रिकेटर गौतम गंभीर, पूर्व आईएएस एस जयशंकर, फिल्म अभिनेता कादर खान (मरणोपरांत), लेखिका गीता मेहता (विदेशी), पूर्व आप नेता एवं वरिष्ठ अधिवक्ता हरविंदर सिंह फूलका, खिलाड़ी बजरंग पुनिया एवं अजय ठाकुर एवं वरिष्ठ पत्रकार एवं लेखक देवेन्द्र स्वरूप (मरणोपरांत) शामिल हैं.

पद्मश्री पाने वाले अन्य नाम हैं राजेश्वर आचार्य, बंगारू आदिगलर, इलियास अली, उद्धव कुमार भाराली, ओमेश कुमार भारती, प्रीतम भर्तवान, ज्योति भट्ट दिलीप चक्रवर्ती, मम्मी चांडी, स्वपन चौधरी कंवल सिंह चौहान, दिनकर ठेकेदार, मुक्तबेन पंकजकुमार दागली, बाबूलाल दहिया, थंगा दारलोंग, राजकुमारी देवी, भागीरथी देवी, बलदेव सिंह ढिल्लों, हरिका द्रोणावल्ली गोदावरी दत्ता, द्रौपदी घिमिरय, रोहिणी गोडबोले, संदीप गुलेरिया, प्रताप सिंह हार्डिया, बुलु इमाम, फ्रेडरिके इरिना विदेशी, जोरावरसिंह जादव, नरसिंह देव जम्वाल, फैयाज अहमद जान, के जी जयन, सुभाष काक विदेशी, रजनी कांत, सुदाम केवट, वामन केंद्रे, अब्दुल गफूर खत्री, रवींद्र कोल्हे (जोड़ी), स्मिता कोल्हे (डुओ), बोम्बायला देवी लेशराम, कैलाश मड़ैया, रमेश बाबाजी महाराज, वल्लभभाई वासराभाई मारवानिया, शादाब मोहम्मद, के के मुहम्मद, शंकर महादेवन नारायण, शांतनु नारायणविदेशी, नर्तकी नटराज, टर्सिंग नोरबो, अनूप रंजन पांडे, जगदीश प्रसाद पारिख, गणपतभाई पटेल विदेशी, बिमल पटेल, हुकुमचंद पाटीदार, मदुरै चिन्ना पिल्लई, ताओ पोर्चन-लिंच विदेशी, कमला पुजारी, जगत राम, आर वी रमणी, देवरपल्ली प्रकाश राव, अनूप साह, मिलिना साल्विनी विदेशी, नागिदास संघवी, सिरीविनेला सीतारमा शास्त्री, शब्बीर सैय्यद, सामाजिक कार्य-पशु कल्याण, महेश शर्मा, मोहम्मद हनीफ खान शास्त्री, बृजेश कुमार शुक्ल, नरेंद्र सिंह, प्रशांति सिंह, सुल्तान सिंह, ज्योति कुमार सिन्हा, आनंदन शिवमणि, शारदा निवासन, राजीव थरानाथ, शालुमारदा थिमक्का, जमुना टुडू, भारत भूषण त्यागी, रामास्वामी वेंकटस्वामी, राम शरण वर्मा, स्वामी विशुद्धानंद, हीरालाल यादव, वेंकटेश्वर राव यदलापल्ली हैं.

http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *